पत्रिका

Monthly Magazine

वीडियो

Daily Analysis Video

Donation

Support Us

प्रकाशनार्थ 

1610353274479

वाराणसी: रवींद्रपुरी स्थित गोपी राधा गर्ल्स इंटर कॉलेज में एमएसएमई एवं स्टार्टअप्स फोरम – भारत के पूर्वी उत्तर प्रदेश सम्मेलन को रविवार फोरम के मुख्य संरक्षक डॉ विजय चौथाईवाले जी ने सम्बोधित किया।

उन्होंने कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी के दौरान माननीय प्रधानमंत्री ने आत्मनिर्भर भारत होने का महामंत्र दिया उससे देश में उद्यमिता को बढ़ावा मिला। यह कोई शब्द नहीं बल्कि विकास की राह पर चलने का मैनेजमेंट सूत्र है। डॉ चौथाईवाले ने कहा कि स्थानीय बाजार और उद्योग के विकास से ही देश की अर्थव्यवस्था मजबूत हो सकती है।

उन्होंने आगे कहा कि आत्मनिर्भर भारत कोई अकेला शब्द नहीं इसके साथ प्रधानमंत्री जी ने वोकल4लोकल का भी उद्घोष किया। हमारा लोकल मार्केट लघु, मध्यम, सूक्ष्म व्यापार से भरा हुआ है। इसी को हम एमएसएमई सेक्टर कहते हैं। आज हमारे देश की जीडीपी में एमएसएमई की मजबूत भागीदारी है।

डॉ विजय ने एमएसएमई एवं स्टार्टअप्स फोरम – भारत के बारे में बताया कि यह फोरम व्यापार और व्यापारी के सहयोग के लिए हर संभव मदद के लिए तत्पर है। हम सरकार और एमएसएमई के बीच एक संपर्क सेतु का कार्य करने में सक्षम हैं। उन्होंने आगे कहा कि एमएसएमई की नीतिगत समस्याओं को इकठ्ठा करके सरकार तक पहुंचाने का काम कर सकते हैं। इसके अलावा फोरम के डिजिटल प्लेटफॉर्म के माध्यम से राष्ट्रीय स्तर पर बी2बी यानी बिजनेस टू बिजनेस बाजार को उपलब्ध कराने की दिशा में बढ़ रहे हैं। उन्होंने एमएसएमई सेक्टर के लोगों को देश – विदेश से निजी स्तर पर निवेश के लिए सहयोग का भी आश्वासन दिया।

एमएसएमई सेक्टर को शोध और नवोन्मेष की धारा से जोड़ने के लिए उन्होंने बताया कि फोरम देश के प्रतिष्ठित शोध, इनोवेशन (नवोन्मेष) संस्थानों के साथ संपर्क एवं सहयोग ले रहा है। इसके लिए इनोवेटिव माइंड को रचनात्मक तरीके से उपयोग करने के लिए एमएसएमई और स्टार्टअप्स के बीच सेतु का कार्य करने को तैयार हैं। इसके अलावा फोरम के तत्वावधान में लीगल असिस्टेंस सेल, एनर्जी इफिसिएंसी सेल, रिसर्च एवं इनोवेशन सेल की स्थापना की जा रही है।

डा विजय चौथाईवाले ने बताया कि हमारे प्रधानमंत्री जी एमएसएमई सेक्टर का विकास कर रहे हैं। इसी कड़ी में हम आगामी 27 मार्च को केंद्रीय एमएसएमई मंत्री श्री नितिन गडकरी जी के साथ वेबिनार द्वारा संवाद करने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम आगे भी ऐसे कई और महत्वपूर्ण अधिकारियों और मंत्रियों के साथ समय समय  पर संवाद कार्यक्रम करते रहेंगे।

उन्होंने इज आॅफ डुइंग बिजनेस के लिए स्थानीय पदाधिकारियों के सहयोग से बनारस के लिए एमएसएमई सहायता डेस्क (हेल्प डेस्क) की स्थापना करने की पहल की।

उन्होंने सभी को अवगत कराया कि एमएसएमई को तकनीकी और प्रौद्योगिकी रूप से मजबूत बनाने के लिए हाल ही में फोरम और अटल इनोवेशन मिशन, नीति आयोग एवं टाइफैक डीएसटी के प्रोजेक्ट सक्षम के साथ समझौते हुए है।

सम्मेलन के विशिष्ट अतिथि श्री सौरभ श्रीवास्तव, विधायक, कैण्ट वाराणसी ने कहा कि देश का विकास स्थानीय मार्केट को सहयोग देने से ही संभव हो सकेगा। इसीलिए घर के आस पास के व्यापारी बंधुओं से ही सामान लें।

इस अवसर पर प्रगतिशील किसान पद्मश्री श्री चंद्रशेखर सिंह ने कहा कि कृषि क्षेत्र में असीम संभावनाएं हैं। इसे उद्योग की नजर से देखें तो यह क्षेत्र देश के लोगों का पेट भी भर सकता है और देश की अर्थव्यवस्था की तिजोरी भी।

कार्यक्रम में अतिथियों का स्वागत एवं विषय स्थापना फोरम के संस्थापक एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री मनोज कुमार शाह ने किया। संचालन राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्रीमती आशू कालरा व धन्यवाद ज्ञापन राष्ट्रीय महासचिव श्री संजय बनर्जी ने किया।

कार्यक्रम में श्री अमित बरनवाल, श्री जितेंद्र मखीजा, श्रीमती रुचि भार्गव, श्री अंकित अग्रवाल, श्रीमती नंदिता बर्मन, श्री आशुतोष अग्रवाल इत्यादि की सक्रिय भागीदारी रही।

भवदीय
संजय बनर्जी
राष्ट्रीय महासचिव
एमएसएमई एवं स्टार्टअप्स फोरम – भारत
मेबाइल: 9836057191

Share on facebook
Facebook
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on google
Google+
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *